All deleted tweets from politicians

Saroj Pandey (india) tweeted :

मोदी सरकार द्वारा पारित कृषि सुधार विधेयकों को लेकर किसानों से मुलाकात किया। और किसानों को इन विधेयकों की उपलब्धियों के बारे में उन्हें अवगत कराया। https://t.co/XhnaLiicRg

Youth Congress (india) retweeted @IYC :

RT @IYC: संसदीय परम्पराओं को कलंकित करते हुए लोकतंत्र की हत्या करके जो तीन अध्यादेश तानाशाही के बल पर भाजपा ने पारित किए है। भारतीय युवा कांग्रेस उनका विरोध करती है।और किसानों के इस मुश्किल वक्त में उनके साथ खड़ी है हम किसानों की आवाज़ को दबने नहीं देंगे। #SpeakUpForFarmers

Congress (india) tweeted :

भाजपा सरकार की कुनीतियों की वजह से किसान पहले से ही बेहाल हो रखे हैं। अब सरकार ने किसान विरोधी बिल पारित करवाकर किसानों के हितों पर प्रहार किया है। भारत के गरीब किसानों को नौकरशाही और पूंजीपतियों की जोड़ी से न्याय की लड़ाई लड़नी पड़ेगी। #DeshKiBaat https://t.co/tUyFWElPyZ

लोकसभा में 'जम्मू-कश्मीर राजभाषा विधेयक, 2020' पारित होने पर सभी भाई-बहनों को हार्दिक बधाई! यशस्वी प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी के नेतृत्व में कश्मीर की आवाज और सशक्त हुई तथा वहां की सांस्कृतिक विरासत को अक्षुण्ण बनाये रखने के लिए एक नई शक्ति प्राप्त हुई है।

RT @Haryana_YC: सरकार द्वारा लोकसभा में पारित कराए गए 3 कृषि अध्यादेशों के खिला आज युवा कोंग्रेस हिसार के ज़िला अध्यक्ष आनन्द जाखड़ जी व प्रदेश सचिव जिला प्रभारी धीरज सिंह व हिसार कांग्रेस ने प्रदर्शन किया व प्रेस वार्ता द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ जताया रोष। https://t.co/uSygINuEjR

RT @yadavakhilesh: भाजपा ने कृषि बिल पारित कराने के लिए ‘ध्वनि मत’ की आड़ में राज्य सभा में किसानों व विपक्ष की आवाज़ का गला दबाया है व अपने कुछ चुनिंदा पूँजीपतियों व धन्नासेठों के लिए भारत की 2/3 जनसंख्या को धोखा दिया है। लोकतांत्रिक कपट कर भाजपा ने कृषि बिल नहीं; अपना ‘पतन-पत्र’ पारित कराया है.

Akhilesh Yadav (india) tweeted :

भाजपा ने कृषि बिल पारित कराने के लिए ‘ध्वनि मत’ की आड़ में राज्य सभा में किसानों व विपक्ष की आवाज़ का गला दबाया है व अपने कुछ चुनिंदा पूँजीपतियों व धन्नासेठों के लिए भारत की 2/3 जनसंख्या को धोखा दिया है। लोकतांत्रिक कपट कर भाजपा ने कृषि बिल नहीं; अपना ‘पतन-पत्र’ पारित कराया है.

RT @JPNadda: संसद द्वारा पारित उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण), कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा पर करार और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक सही मायनों में किसानों को अपने फसल के भंडारण, और बिक्री की आजादी देंगे और बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त करेंगे।

Jayant Sinha (india) retweeted @JPNadda :

RT @JPNadda: संसद द्वारा पारित उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण), कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा पर करार और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक सही मायनों में किसानों को अपने फसल के भंडारण, और बिक्री की आजादी देंगे और बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त करेंगे।

Saroj Pandey (india) retweeted @JPNadda :

RT @JPNadda: संसद द्वारा पारित उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण), कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा पर करार और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक सही मायनों में किसानों को अपने फसल के भंडारण, और बिक्री की आजादी देंगे और बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त करेंगे।