All deleted tweets from politicians

RT @Ahmad_Shakeel: देश के कर्णधारों की ऐसी बातें सुन कर उर्दू के मशहूर शायर कृष्ण बिहारी “नूर” जी का यह शेर बहुत याद आता है। सच घटे या बढ़े तो सच न रहे, झूठ की कोई इंतहा ही नहीं।